Pm evidya: One Nation One Digital Platform | पीएम ई विद्या पोर्टल छात्र पंजीकरण

Pm evidya – कोरोना महामारी की वजह से दुनिया में कई लोगों की स्थिति और गंभीर होती जा रही है। इसे बाहर आने में कुछ समय लगेगा। हालांकि, इसका सबसे बड़ा प्रभाव इस बात पर केंद्रित होगा कि बच्चों को कैसे पढ़ाया जाता है। चूंकि जैसे-जैसे कोरोना बढ़ता गया, वैसे-वैसे लॉकडाउन भी बढ़ता गया। इसका मतलब था कि बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त करने में असमर्थ थे। इसे ध्यान में रखते हुए, वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन ने छात्रों के लिए पीएम ई विद्या पोर्टल छात्र पंजीकरण कार्यक्रम शुरू किया। कार्यक्रम के माध्यम से छात्रों को उच्च शिक्षा प्रदान की जा सकती है। कौन सा ऑनलाइन मॉडल पेश किया जाएगा। बच्चों को पहले साइन अप करना होगा, और उसके बाद ही वे इसका लाभ उठा सकते हैं।

योजना का नामपीएम ई विद्या पोर्टल छात्र पंजीकरण
किसके द्वारा किया गया शुरूकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीछात्र-छात्राएं
योजना की कब हुई शुरूआत2020
योजना उपलब्धता30 मई 2020
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.swayamprabha.gov.in/
हेल्पलाइन नंबरअभी जारी नहीं किया गया है

पीएम ई विद्या पोर्टल उद्देश्य | PM evidya Objective

उत्कृष्ट शिक्षा प्राप्त करना सभी का अधिकार है। हमारी सरकार हर संभव प्रयास करती है। लेकिन पिछले दो साल में ऐसा नहीं हुआ। इस वजह से बच्चे उच्च स्तर तक शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाते हैं। ऐसे में बच्चों को उच्च शिक्षा दिलाने के लिए सरकार ने यह योजना शुरू की है। ।एक अनूठा पहलू यह है कि इस कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को कुछ नया जानने को मिलता है। सरकारी अधिकारियों का मानना ​​है कि बच्चों के पास चाहे जो भी अधिकार हो, उन्हें वह दिया जाना चाहिए। इस मामले में किसी भी तरह की नरमी नहीं बरती जानी चाहिए। क्योंकि यह उनके भविष्य का सवाल है। जिस पर देश का अस्तित्व निर्भर करता है।

PM evidya पोर्टल के लाभ

  • यह योजना केंद्र सरकार के माध्यम से शुरू की गई थी। इसका लाभ देश का हर बच्चा उठा सकता है।
  • योजना के द्वारा बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित की जा सकती है।
  • योजना की शुरुआत में देश भर के लगभग 25 करोड़ बच्चे इसका लाभ उठा सकेंगे।
  • राष्ट्रीय छात्र जल्द ही शीर्ष विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन शिक्षा के माध्यम से अपनी शिक्षा प्राप्त करेंगे।
  • इसके लिए एक और विकल्प है, और वह है टेलीविजन। जिन बच्चों के पास इंटरनेट नहीं है वे इसके माध्यम से शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
  • कार्यक्रम के हिस्से के रूप में सरकार द्वारा 12 अतिरिक्त समान चैनल बनाए जा सकते हैं।
  • दीक्षा प्लेटफॉर्म भी लॉन्च किया जाएगा, जिसमें ई-कंटेंट और क्यूआर कोड-किताबें होंगी जिनका उपयोग सभी स्तरों पर किया जा सकता है।
  • सरकार द्वारा जारी किए गए कार्यक्रम को वन नेशन वन डिजिटल प्लेटफॉर्म के रूप में संदर्भित किया जाएगा।
  • दृष्टिहीन बच्चों के लिए सरकार रेडियो के माध्यम से पॉडकास्ट के रूप में उपलब्ध इस कार्यक्रम की पेशकश करेगी।
  • सरकार द्वारा सभी महत्वपूर्ण कार्यों को लागू किया जाएगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि तालाबंदी के कारण छात्रों की शिक्षा बाधित न हो।
  • संघीय सरकार के माध्यम से जारी इस कार्यक्रम में बच्चे घर बैठे ही सीख सकते हैं।

PM evidya पोर्टल के लिए पात्रता

इस कार्यक्रम के उद्देश्य के लिए आवेदक को भारत का नागरिक भी होना चाहिए।

  • यदि आप योजना के संबंध में आवश्यक जानकारी जानना चाहते हैं, तो आप संघीय सरकार द्वारा प्रदान की गई वेबसाइट के माध्यम से ऐसा कर सकते हैं।
  • यह योजना छात्रों के लिए शुरू की गई थी। इसका मतलब है कि केवल छात्र ही योजना में भाग लेने के पात्र हैं।
  • सरकार इंटरनेट के साथ-साथ रेडियो, टेलीविजन और वेबसाइट के जरिए 25 मिलियन बच्चों तक इस कार्यक्रम का विस्तार करेगी।
  • सरकार इसके लिए अलग-अलग चैनल शुरू करने की योजना बना रही है, जहां पहली कक्षा से 12 वीं कक्षा तक के छात्र अपने विषयों के अनुसार शिक्षा प्राप्त करेंगे।
  • इसे सुगम बनाने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण प्रदान करना भी सरकार की मंशा है। इन चैनलों के माध्यम से बच्चों को सीखने में मदद करने के लिए उन्हें सक्षम बनाना।

PM evidya पोर्टल के लिए दस्तावेज

  • इस योजना के लिए आवेदन करने वाला कोई भी व्यक्ति इस बात से अवगत होगा कि वे स्कूल में छात्र होना अनिवार्य है।
  • निवास प्रमाण पत्र प्राप्त करना अनिवार्य है क्योंकि यह सरकार को साबित करेगा कि आप भारतीय हैं।
  • यह महत्वपूर्ण है कि छात्र के पास आधार कार्ड हो तभी आप आवेदन कर सकते हैं।
  • पासपोर्ट आकार के फोटोग्राफ की भी आवश्यकता होती है क्योंकि यह आवेदक की शीघ्र पहचान कर सकता है।
  • योजना के बारे में तुरंत जानकारी प्राप्त करने के लिए मोबाइल नंबर आवश्यक है।

PM evidya पोर्टल के लिए आवेदन कैसे करें

अगर आप PM eVidya प्रोग्राम का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको कोई आवेदन भरने की जरूरत नहीं है। आप सीधे आधिकारिक वेबसाइट https://www.swayamprabha.gov.in/ पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। फिर, आप योजना द्वारा दी जाने वाली सभी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। यह योजना सभी छात्रों को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा बनाई गई थी।

PM evidya पोर्टल के लिए आधिकारिक वेबसाइट

सरकार की ओर से इस योजना के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://www.swayamprabha.gov.in/ जारी कर दी गई है। छात्र वहां जा सकते हैं और आवेदन भर सकते हैं। आवेदन प्रक्रिया नि:शुल्क है, इसलिए कोई भी बच्चा आवेदन कर सकता है। आपको बस इतना करना है कि आवश्यक दस्तावेज संलग्न करना है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपका आवेदन भरा जा सकता है।

PM evidya पोर्टल के लिए हेल्पलाइन

सरकार ने इस संबंध में वेबसाइट लॉन्च कर दी है। हेल्पलाइन नंबर अभी घोषित नहीं किया गया है। हालांकि, अगर सरकार को ज़रूरत पड़ेगी तोह वह लांच करेगी

सामान्य प्रश्न

Q- वह व्यक्ति कौन है जिसने पीएम ई विद्या पोर्टल छात्र पंजीकरण योजना शुरू की है?

उत्तर- यह कार्यक्रम केंद्र सरकार के माध्यम से शुरू किया गया था।

प्रश्न कितने छात्रों को ई विद्या पोर्टल का लाभ मिलेगा?

उत्तर: इस योजना का लाभ 25 करोड़ भारतीय छात्रों को मिलेगा।

प्रश्न- पीएम और विद्या पोर्टल छात्र पंजीकरण योजना का तरीका क्या होगा?

उत्तर- इस योजना में रेडियो, टीवी और इंटरनेट का चयन किया गया है।

योजना के शुरू होने के पीछे राज्य की मदद करना क्या उद्देश्य है?

उत्तर- यह योजना बच्चों की शिक्षा में सुधार के लिए बनाई गई थी।

क्या मुझे योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा?

इसका जवाब है हाँ। आप इस योजना के लिए इस आधिकारिक साइट पर आवेदन करने में सक्षम हैं।

यह भी पढ़े:-

prerna-up-in

rajasthan-sajag-gram-yojana

mukhyamantri-noni-sashaktikaran-sahayata-yojan

Leave a Comment